शुक्रवार, 18 दिसंबर 2009

कल की परतियोगिता जीती थी विजय वडनेरे जी ने आज आप भी अच्छा सा कमेंट्स भेजकर बन सकते है कमेंट्स के हीरो






मुल्क का बटवारा किया हासिल किया क्या . कल की परतियोगिता जीती थी  विजय वडनेरे जी ने  आज आप भी अच्छा सा कमेंट्स भेजकर बन सकते है कमेंट्स के हीरो

3 टिप्‍पणियां:

  1. हम अभी जंगली हैं, हमें भारत जैसे देश में सैकड़ों साल रहने के बाद भी अपना अतीत नहीं भूला, हमें फि‍र वही जंगलि‍स्‍तान दे दो, पाकि‍स्‍तान दे दो अफगानि‍स्‍तान दे दो atlasshrugs2000.typepad.com

    उत्तर देंहटाएं

हर टिपण्णी के पीछे छुपी होती है कोई सोच नया मुद्दा आपकी टिपण्णी गलतियों को बताती है और एक नया मुद्दा भी देती है जिससे एक लेख को विस्तार दिया जा सकता है कृपया टिपण्णी दे