सोमवार, 30 अप्रैल 2012

सचिन महान नही है !

आज मै सचिन समर्थको की नाराजगी झेलने आया हूँ ! हो सकता है आज मुझे कुछ ब्लोग्गर मित्र राष्ट्रद्रोही मानने लगे ! चुकी इस देश में सचिन को एक भगवान बना दिया गया है कुछ लोगो ने ! जिसकी वजह से ऐसे बहुत से लोग है जो सचिन के खिलाफ कुछ भी सुनना नही चाहते ! लेकिन मै सचिन को महान या भगवान नही मानता मै उन्हें भी एक आम आदमी या आम क्रिकेटर की तरह मानता हूँ ! कारण निम्नलिखित है !
१ सचिन भी और क्रिकेटरों की तरह नीलाम होते है !
२ सचिन भी पैसो के लिए खेलते है जैसे बाकी क्रिकेटर !
३ सचिन उस उम्र में भी खेलते है जब उनका पर्दर्शन अच्छा नही होता जब की अब उन्हें सन्यास लेकर नये खिलाडियों को मोका देना चाहिये !
४ सचिन ने कभी भी राज ठाकरे की हिंसाओ का विरोध नही किया बल्कि उनकी राज ठाकरे से दोस्ती है !
५ सचिन से बढ़िया खिलाड़ी हमारे देश में और भी हुए हुए है जैसे गांगुली ,कुंबले , कपिल लेकिन उन्होंने कभी खुद को भगवान कहलवाना पसंद नही किया !
मेरा मानना बिलकूल साफ़ है सचिन कोई भगवान नही है बल्कि वह एक साधारण इंसान है ! सचिन से बेहतर प्रदर्शन करने वाले इस देश में या फिर विदेश में बहुत से खिलाड़ी हुए है लेकिन उनके गुणगान में इस तरह का भोंडा प्रचार नही किया गया ! लेकिन हमारे मीडिया जगत और राजनातिक जगत के लोग उन्हें महिमा मंडित करते रहे है शायद उनकी कुछ मजबूरिया होंगी ! लेकिन इस देश के आम आदमी को सचिन भगवान लगने लगे है तब भी हमारे देश के मीडिया और राजनातिक मजबूरियों का ही दोष है ! काश इस देश के युवाओं के आइकोन भगत सिंह , सुब्रहमन्यम स्वामी , महराना प्रताप , विवेकानन्द , होते तब इस देश की तस्वीर कुछ और ही होती ! लेकिन अफ़सोस सचिन , शारुख ,आमिर ,सलमान ही इस देश के युवाओं के आदर्श बना दिए गये है जिसका खामियाजा देश भुगत रहा है !

1 टिप्पणी:

  1. bhai sachin ek khiladi hai wo cricket ke madhyam se hamara manoranjan karte hai .
    ho sakta hai aap gangli kapil aadi jayada bade khiladi dikhte hai

    ye aap ki marji aap ko koi bhi pasand aa sakta hai .
    waise unki burai kerne se bhi koi fayda nhi hai

    उत्तर देंहटाएं

हर टिपण्णी के पीछे छुपी होती है कोई सोच नया मुद्दा आपकी टिपण्णी गलतियों को बताती है और एक नया मुद्दा भी देती है जिससे एक लेख को विस्तार दिया जा सकता है कृपया टिपण्णी दे