रविवार, 14 नवंबर 2010

बिग बोस ,राखी का ईसाफ . गलत टिप्पणी ,अश्लीलता बंद करो -बंद करो

लगता है भारतीय समाज को तोड़ने की कसम खाकर  आई है राखी सावंत तभी तो लेकर आई है राखी का इन्साफ .एसा इन्साफ जो बिना समझे सोचे विचारे फैसले सुनाता है . जबान से एसा निकलता है मानो कोई तानाशाही बादशाह सामने बैठकर फैसला सूना रहा हो . तभी तो एक भले चंगे आदमी को तनाव में भेज दिया जिससे  उसकी मृत्यु हो गयी .अब टीवी चैनल की गलती है या राखी को इस कार्यकर्म का होस्ट बनाने वालो की झासी का एक शख्स तो इन सबने मिल कर बलि ले लिया है . वैसे राखी ही नही एक और रियलिटी शो है जो भारत में अश्लीलता को इस कद्र फैला रहा के अच्छे अचो के पसीने छूट जाए . नाम उसका बिग बोस है बिग बोस में जिस तरह के लोगो ने भाग लिया उस प़र महान ब्लोग्गर सुरेश चिपलूनकर जी लिख चुके है . बिग बोस में सोच का दिवालियापन तो देखिये दो पति -पत्नी की सुहागरात दिखाकार या उसके कुछ दृश्य  दिखाकार टीआरपी कमाने के हथकंडे अपनाए जा रहे है . कभी पाकिस्तानी कलाकारों को बुलाते है कभी कसाब के वकील को और अब सेक्स का तडका . और भारतीय समाज गूंगा बहरा होकर इन्हें देख रहा है क्या भारतीय समाज भी अब पूरी तरह पश्चिमी सोच सभ्यता का हो चला है अथवा ये टीवी चैनल भारत को भी मानसिक तोर प़र दिवाला कर देंगे 

2 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत अच्छा .........
    सराहनीय प्रयाश .....
    आगे भी जरी रखियेगा ........

    http://nithallekimazlis.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  2. ब्लॉग जगत में पहली बार एक ऐसा सामुदायिक ब्लॉग जो भारत के स्वाभिमान और हिन्दू स्वाभिमान को संकल्पित है, जो देशभक्त मुसलमानों का सम्मान करता है, पर बाबर और लादेन द्वारा रचित इस्लाम की हिंसा का खुलकर विरोध करता है. जो धर्मनिरपेक्षता के नाम पर कायरता दिखाने वाले हिन्दुओ का भी विरोध करता है.
    इस ब्लॉग पर आने से हिंदुत्व का विरोध करने वाले कट्टर मुसलमान और धर्मनिरपेक्ष { कायर} हिन्दू भी परहेज करे.
    समय मिले तो इस ब्लॉग को देखकर अपने विचार अवश्य दे
    देशभक्त हिन्दू ब्लोगरो का पहला साझा मंच - हल्ला बोल
    हल्ला बोल के नियम व् शर्तें

    उत्तर देंहटाएं

हर टिपण्णी के पीछे छुपी होती है कोई सोच नया मुद्दा आपकी टिपण्णी गलतियों को बताती है और एक नया मुद्दा भी देती है जिससे एक लेख को विस्तार दिया जा सकता है कृपया टिपण्णी दे